Archive for मई, 2020

ग्वालियर टाइम्स ने लाकडाउन पर फिल्म का पहला भाग रिलीज किया

मई 17, 2020

A Film on Lock Down – Gwalior Times Devputra Films Pvt. Ltd. Presents
एक फिल्म – लाक डाउन – ग्वालियर टाइम्स देवपुत्र फिल्म्स प्रायवेट लिमिटेड प्रस्तुति
स्वर और उच्चारण – नरेन्द्र सिंह तोमर “आनंद”
https://youtu.be/4JNwVAWQTIE

मुरैना में प्रशासन और व्यापारीयों में दूकान खोलने बंद करने के आदेशों पर भिड़ंत

मई 16, 2020

** अंतत: प्रसिद्ध उद्योगपति रमेश गर्ग के प्रशासन के खिलाफ बयान के तीसरे दिन , मुरैना के व्यापारी और प्रशासन आमने सामने आ ही गये , आज प्रशासन ने अपना रूतबा दिखाया तो व्यापारियों ने एकता की ताकत , आखिर आर पार की लड़ाई शुरू … एक फरमानी हिटलरशाही के खिलाफ , एक नाफरमानी जनता जंग , आगे पता लगेगा एपिसोड में अगला माजरा क्या होगा , फिलहाल एस डी एम ने ताबड़तोड़ मामले धारा 188 के तमाम दूकानदारों के खिलाफ दर्ज करा दिये हैं , उधर व्यापारी आक्रोश‌ में दोनों बाजू कस कर , कमर बांध कर मैदान‌ में आ गये हैं , बकौल व्यापारीगण , उनकी मारपीट और लूटपाट की गई , उनकी एफ आई आर दर्ज नहीं की जा रही , उनकी प्रशासन और पुलिस नहीं सुन रहे, मनमाने और रोजाना नित नये बदलते आदेशों से परेशान हैं व्यापारी , एस डी एम के मुताबिक व्यापारी आल्टरनेटिव तरीके से 1,2,3 के नंबरिंग के हिसाब से दूकानें नहीं खोल रहे थे , मामले का राजनीतिक रंग और असर क्या होगा , देंखें और पढ़ें  ग्वालियर टाइम्स पर , फिल्म लाकडाउन का 60% भाग अपलोड हो चुका है , इस फिल्म में देखें ताजा फोटो, वीडियो मुरैना शहर के और जानिये व देखिये कि दूकानों के खुलने की और आदेश के पालन की सच्चाई क्या है , यह वीडियो लगातार हमारी टीम ने अलग अलग जगह व अलग दिनों में शूट किये हैं , इसमें आप खुद देख और फैसला ले सकेंगे कि दूकानों के खुलने की असलियत क्या है , इसके बाद फिल्म लाकडाउन भाग -2 में आज लिये गये फोटो /वीडियो आप देख सकेंगें साथ ही 22 मार्च से आज/ या रिलीज दिनांक तक की वस्तुस्थिति आप देख सकेंगें और लोगों के विचार और भावनायें भी जान सकेंगें‌, चूंकि फिल्म लाकडाउन का 60% भाग आज अपलोड किया जा चुका है , अत: आज की फिल्म दूकानदारों /उद्योगों / ई आफिसों/आनलाइन व्यावसाइयों/बेरोजगारों आदि को ही समर्पित होगी , अगली फिल्म लाकडाउन भाग -2 अलग विषय पर के़द्रित रहेगी । हमारे चैनल को सबस्क्राइब करना और घंटी के बटन को दबाना न भूलें https://youtube.com/gwaliortimesintv ✌️浪羅 

उपचुनाव म प्र : बगावत आयेगी , बगावत गुजर गई , भाजपा और कांग्रेस में कौन रहेगा सत्ता में

मई 9, 2020

मध्यप्रदेश विधानसभा उपचुनाव : भाजपा के पास 24 सीटों पर करीब 60 तो कांग्रेस के पास भी करीब इतने ही दावेदार
ग्वालियर टाइम्स
आगामी जून के महीने में होने जा रहे मध्यप्रदेश विधानसभा के उपचुनावों के लिये भाजपा और कांग्रेस दोनों ही राजनैतिक दलों में टिकिट के लिये करीब ढाई गुना उम्मीदवारों की दावेदारी पहुंच चुकी है ।
सूत्रों से मिल रही खबरों और छन‌छन कर आ रही जानकारी के मुताबिक दोनों ही पार्टीयों में पुराने नेताओं की दावेदारी जोरों पर सामने आई है तो वहीं भाजपा में सिंधिया समर्थकों की दावेदारी अधिक है तो कांग्रेस में सिंधिया विरोधीयों की ।
कांग्रेस ने भी जहां सिंधिया के पुराने दमदार मुखर विरोधियों को चुनाव  मैदान में लाने का प्रथम क्राइटीरिया रखा है और सिंधिया विरोधीयों को चुनाव लडाने और उन्हें जिता कर विधानसभा ले जाने का , सिंधिया और उनके समर्थन में इस्तीफा देने वाले विधायकों को मुंह तोड़ जवाब देने का , महल में गिरवी रखी कांग्रेस जैसे तमगे से छुटकारा पाने का सीधा सा एक सूत्रीय एजेंडा रखा है , इसके लिये कांग्रेस ने एक मशहूर गीत तैयार करके भी पूरे उपचुनावों वाले सभी 15 जिलों में इस गीत की घर घर कापीयां बंटवा दी हैं ।
वहीं दूसरी ओर भाजपा भी अभी सिंधिया के भरोसे चुनाव लड़ने में हिचकिचा रही है और किसी न किसी खास वजह से सिंधिया समर्थकों से एक समानांतर दूरी बना कर चल रही है , खास बात यह है कि भाजपा में ग्वालियर चंबल अंचल के ज्यादातर भाजपाई वे हैं जो सिंधिया के सताये जाने के कारण या तो कांग्रेस छोड़ कर भाजपा में शामिल हुये और पद एवं नाम पाने के साथ वे भाजपा के पदाधिकारी भी बने ।
परशुराम मुदगल‌ मुरैना के पुर्व विधायक रहे वे पहले कांग्रेस में थे लेकिन सिंधिया के विरोध के कारण हार कर वे पहले बसपा में और फिर भाजपा में शामिल हुये , वे सिंधिया से कांग्रेस में काफी परेशान रहे और अब सिंधिया भी भाजपा मे आ गये , वे भी मुरैना सीट से टिकिट मांग रहे हैं , उधर कांग्रेस के भी संपर्क में परशुराम‌ मुदगल लगातार हैं और सुरेश पचोरी के माध्यम से टिकिट मांग रहे हैं , यदि भाजपा उन्हें टिकिट नहीं देगी तो कांग्रेस से टिकिट में सुरेश पचौरी उन्हें मदद कर वापस कांग्रेस में ला सकते हैं और टिकिट दिला सकते हैं , लिहाजा मुरैना विधानसभा का चुनाव का टिकिट कांग्रेस होल्ड पर रखेगी ।
इसी तरह मुरैना नगर निगम में अनेक पार्षद पहले कांग्रेसी थे जो सिंधिया के कारण कांग्रेस छोड़ कर भाजपा में शामिल हो गये थे जैसे केशव सिंह तोमर तथा अन्य लोग सिंधिया के विरोध और मुखाफलत के कारण सिंधिया द्वारा परेशान किये गये और सताये गये , बाद में ये सभी भाजपा में शामिल होकर पार्षद बन गये , ये सब भी सिंधिया के भाजपा में आने से परेशान और हैरान हैं , ये सभी आने वाले नगर निगम चुनावों में सिंधिया समर्थकों की टिकिट दावेदारी से तंग आकर वापस कांग्रेस की ओर रूख कर कांग्रेस के टिकिट पर फिर चुनाव लड़ कर पार्षद बनना पसंद करेंगें और चूंकि इस बार मेयर का चुनाव पार्षदों में से होना है और स्थानीय व राजनैतिक कारणों से कांग्रेस का मेयर बनना तय है , इसलिये बड़ी संख्या में नगर निगम चुनाव में कांग्रेस में लोगों की वापसी होनी तय है , वहीं भाजपा के बुनियादी कार्यकर्ता अवसर जाने तक ही खामोशी की चादर ओढ़े हैं , टिकिट पर संकट और पदों पर संकट आते ही उनकी खामोशी टूटनी और बगावत के बिगुल भाजपा में बजना तय है , सबसे ज्यादा समस्या और बगावत भाजपा को सुमावली , जौरा और अंबाह विधांसभाओं में झेलनी होगी , भिंड की मेहगांव और गोहद विधानसभा सीटों पर भी तकरीबन यही हालत भाजपा की रहेगी ।

मध्यप्रदेश के महाराष्ट्र रेल दुर्घटना में मारे गये 14 श्रमिकों‌ और घायलों पर रेल मंत्री पीयूष गोयल की नजर

मई 9, 2020

नांदेड़ मंडल के बदनपुर और करमाड स्टेशनों के बीच रेल पटरियों पर हुआ हादसा

8 मई, 2020 की सुबह 5.22 बजे हुए एक दुखद हादसे में मनमाड को जा रही एक मालगाड़ी ने रेलवे की पटरियों पर सो रहे लोगों के एक समूह को टक्कर मार दी। यह हादसा नांदेड़ मंडल के परभणी- मनमाड सेक्शन के बदनपुर और करमाड स्टेशनों के बीच हुआ।

19 लोगों के इस समूह में से 14 लोगों की घटना स्थल पर ही मौत हो गई और गंभीर रूप से घायल 2 लोगों ने बाद में दम तोड़ दिया। मामूली घायल एक व्यक्ति का औरंगाबाद के सिविल अस्पताल में इलाज हो रहा है।

माल गाड़ी के लोको पायलट ने रेल पटरियों पर लोगों के समूह को देखकर बार-बार हॉर्न बजाया। इसके  साथ ही उसने ट्रेन रोकने की हर संभव कोशिश, लेकिन इसके बावजूद हादसा हो गया।

सूचना मिलने पर रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ), रेलवे की सुरक्षा इकाई के वरिष्ठ अधिकारी तत्काल ही अन्य विभागों के अधिकारियों के साथ घटना स्थल को रवाना हो गए।

नांदेड़ मंडल के मंडल रेल प्रबंधक श्री उपिंदर सिंह भी व्यक्तिगत रूप से राहत कार्यों की निगरानी के लिए घटना स्थल पर पहुंच गए। दवाओं और चिकित्सा उपकरणों से युक्त चिकित्सा राहत यान (एमआरवी) भी चिकित्सा सहायता के लिए चिकित्सकों, नर्सों और अन्य स्वास्थ्य कर्मचारियों को साथ लेकर घटना स्थल पर पहुंच गया। एससीआर के महाप्रबंधक श्री गजानन माल्या ने हादसे की सूचना मिलने के बाद तुरंत विभिन्न विभागों के प्रमुखों की बैठक बुलाई और तेजी से राहत एवं बचाव कार्य करने के निर्देश दिए।

रेलवे सुरक्षा आयुक्त (दक्षिण मध्य क्षेत्र) की अध्यक्षता में उच्च स्तरीय जांच के आदेश दे दिए हैं। माननीय रेल मंत्री श्री पीयूष गोयल हालात पर लगातार नजर रखे हुए हैं और इस संबंध में उठाए जा रहे कदमों की उन्हें लगातार जानकारी दी जा रही है।